आज के वचन पर आत्मचिंतन...

हमे हर दिन की शुरवात मे एक बड़े निर्णय का सामना करना होता है की आज हम क्या पहनेगे। खैर, चाहे जो भी हमारा चुनाव हो कपड़ो के लेकर, लेकिन उस नए व्यक्ति को जरूर पहने जो परमेश्वार ने हमे पुनः बनाया है होने के लिए जब हम मसीह बने थे(गलातियों ३:२६-२७)। यह ही वे कपड़े है जो हमे अनन्तकल तक सही माप मे आएंगे!

मेरी प्रार्थना...

प्रिय पिता,होने दे की लोगो को आज यीशु का चरित्र और समानता मुझमे दिखाईदे। प्रभु यीशु,आपके नाम से मैं मांगता हूँ की कृपा कर आप मुझे चुनाव करने मे अगवाई करे और आज जिन परिस्तिथियो का सामना मुझे करना पड़े उनमे आप मुझे मदत करे की तब मैं वैसे बर्ताव करू जैसे आप मुझसे चाहते हो की मैं करू। बहुमूलय और सामर्थी पवित्र आत्मा, मुझे भरदे और मुझे बदलने के आपके इस कार्य को जारी रखिये। अमिन।

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

टिप्पणियाँ