आज के वचन पर आत्मचिंतन...

कुछ प्रकार के सांसारिक खुशी थोड़े समय के लिए हमारे दिल को खिला सकते हैं,लेकिन जब कठिनाइयों आते है, हमारे दिल अकाल में सूख जाते है।यहोवा में और हमारे लिए उनका इछा में आनंदित होना, तथापि चल रही और ताजा आनन्द को देता है। इस जीवन शैली से बाहर दोनों अल्पकालिक और दीर्घकालिक लाभ और एक लचीलाता जो जीवन की सबसे खराब अकाल परिस्थियों को सामना करता है।

मेरी प्रार्थना...

प्रिय परमेश्वर, जो स्वर्ग का पवित्र है, मैं आप में मेरे खुशी की खोज करता हूँ,और आपकी वाला आत्मा में ताज़गी पाते हैं। मेरे जीवन का हर दिन अपनी इच्छा को तलाश करने के लिए कृपया मुझे बुद्धि दे दीजिए।यीशु की नाम से मांगता हूँ. अमिन.

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

टिप्पणियाँ