आज के वचन पर आत्मचिंतन...

यह मायने नहीं रखता कि दुष्टो कि युक्तियां और शैतानी शक्तिया कितने ही क्यों क्षणिक मुनाफे में दिखाई दे, ये सरे प्रयास कब्र पर ख़तम हो जाते है,और अंततः दुष्ट जब परमेश्वर के न्याय और धार्मिकता के सामने खड़े होंगे तो उनके प्रयासों को दिखाने के लिए कुछ नहीं होगा.

मेरी प्रार्थना...

प्रिय पिता,मेरी मदत कीजिये कि मैं उनको ईश्वर मानने या उनको ऊँचा करने का प्रतिकार कर सकू, जो बुराई के यंत्रो, षड्यंत्र, विधिया और योजनाओं के माध्यम से सफलता पते है,आपके राज्य और धार्मिकता की खोज करने के में मेरे दिल कि सहायता करें। प्रार्थना यीशु के नाम से। अमिन।

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

टिप्पणियाँ