आज के वचन पर आत्मचिंतन...

"सत्य को पहली बार बताओ और फिर आपको याद रखना जरूरी नहीं कि आपने क्या कहा।" यह एक उद्धरण है कि सदन के प्रसिद्ध अध्यक्ष (यू.एस.ए. प्रतिनिधि सभा) सैम रेबर्न| इस अनुच्छेद में मूल रूप से परमेश्वर का ज्ञान हमें इस मार्ग को सिखाने की कोशिश कर रहा है। एक खरा इनसान बने|,तब जब कोई आपके रहस्यों को जान जाता है, तो आप सुरक्षित महसूस कर सकते हैं यह जान कर किआपने भक्ति का जीवन जिया है। हालांकि, एक विकृत और धोखेबाज व्यक्ति को लगातार चिंता लगी रहती है कि कोई उसे ढूंढ न ले। कुटिल पथों में कोई सुरक्षा या आश्वासन नहीं है, केवल फिसलने और पकडे जाने की निश्चितता होती है। जब अँधेरे में किये गए बुरे कामो का रहस्य छत से चिल्लाया गया हो, तब परमेश्वर के लिए जीने वाले लोग सुरक्षित हो सकते हैं, यह जानते हुए कि उनके बारे में क्या कहा जाता है, जो कि परमेश्वर की आवाज़ से कहा जाता है: कि "मेरे अच्छे और विश्वासयोग्य दास! "अच्छा किया"

मेरी प्रार्थना...

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

टिप्पणियाँ