आज के वचन पर आत्मचिंतन...

परमेश्वर का शब्द एक नैतिक रूप से अनिश्चित दुनिया में हमारे अंधेरे रास्ते के लिए एक प्रकाश है। यह सही और गलत, धार्मिकता और बुरे के लिए हमारा मानक होना चाहिए। जैसा कि परमेश्वर की इच्छा और वचन हमारे जीवन में प्रभाव डालते हैं, हम सभी विनाशकारी प्रथाओं से बचाए जाते हैं जो हमारे जीवन को बर्बाद कर सकते हैं।

Thoughts on Today's Verse...

God's word is a light to our dark path in a morally uncertain world. It must be our standard for right and wrong, righteousness and evil. As God's will and Word have sway in our life, we are delivered from all sorts of destructive practices that can ruin our lives.

मेरी प्रार्थना...

महान और सर्वशक्तिमान ईश्वर, जो मरे हुओं को उठाता है और गिरते हुए पुनर्स्थापित करता है, मेरे ह्रदय को अपनी सचचाई से प्रसन्न बना और मेरी जिंदगी पूरी तरह आपकी इच्छा के अनुरूप बना। मुझे अपने रास्ते में ले चल और धर्म में मेरे कदमों का मार्गदर्शन करें मुझे किसी भी प्रकार के बंधन से आज़ादी के लिए सशक्त बनायें क्योकि शैतान मुझे नियंत्रित करने और मेरे धर्मी प्रभाव को बर्बाद करने के लिए इस्तेमाल कर सकता है। यीशु के नाम में मैं प्रार्थना करता हूँ। आमीन|

My Prayer...

Great and Almighty God, who raises the dead and restores the fallen, make my heart delight in your truth and my life more perfectly conformed to your will. Lead me in your way and guide my footsteps in righteousness. Empower me to freedom from any form of bondage that Satan might use to control me and ruin my godly influence. In Jesus' name I pray. Amen.

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

Today's Verse Illustrated


Inspirational illustration of भजन संहिता 119:133

टिप्पणियाँ