आज के वचन पर आत्मचिंतन...

सच्चा आराम परमेश्वर को जानने से मिलता है । राजा दाऊद ने हमें भजन 23 में यह स्मरण दिलाता है। और यीशु इसे फिर से स्पष्ट करता है। केवल यीशु ही परमेश्वर को पूरी तरह से हमारे सामने प्रकट कर सकते हैं। केवल यीशु ही अनुग्रह की समझ के बिना परमेश्वर को प्रसन्न करने का बोझ उठा सकते हैं। केवल वह हमारे पिछले पापों के बोझ को हटा सकता है और हमें पवित्र, निर्दोष और सर्वशक्तिमान परमेश्वर के सामने दोषारोपण से मुक्त करके खड़ा होने में सक्षम बनाता है। (कुलुस्सियों 1: 21-22)|

मेरी प्रार्थना...

स्वर्गीय पिता, व्यवस्था को पूरा करने और आपकी अनुग्रह से मुझे आशीष देने यीशु को भेजने के लिए धन्यवाद। शायद मैं उस अनुग्रह को कभी हासिल नहीं कर सकता। प्रिय पिता, मुझे आनंद और हर्ष के साथ सेवा करने के लिए सशक्त करें जो आपकी कृपा से मेरे पापों और असफलता के बोझ से आती हैं। यीशु के नाम से मैं प्रार्थना करता हूँ। आमीन !

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

टिप्पणियाँ