आज के वचन पर आत्मचिंतन...

सच्चा आराम परमेश्वर को जानने से मिलता है । राजा दाऊद ने हमें भजन 23 में यह स्मरण दिलाता है। और यीशु इसे फिर से स्पष्ट करता है। केवल यीशु ही परमेश्वर को पूरी तरह से हमारे सामने प्रकट कर सकते हैं। केवल यीशु ही अनुग्रह की समझ के बिना परमेश्वर को प्रसन्न करने का बोझ उठा सकते हैं। केवल वह हमारे पिछले पापों के बोझ को हटा सकता है और हमें पवित्र, निर्दोष और सर्वशक्तिमान परमेश्वर के सामने दोषारोपण से मुक्त करके खड़ा होने में सक्षम बनाता है। (कुलुस्सियों 1: 21-22)|

Thoughts on Today's Verse...

True rest comes from knowing God. King David reminds us of this in Psalm 23. Jesus makes it clear again. Only Jesus can fully reveal God to us. Only Jesus can take away the burden of seeking to please God without an understanding of grace. Only he can remove the burden of our past sins and enable us to stand holy, blameless, and free from accusation before God Almighty. (cf. Colossians 1:21-22)

मेरी प्रार्थना...

स्वर्गीय पिता, व्यवस्था को पूरा करने और आपकी अनुग्रह से मुझे आशीष देने यीशु को भेजने के लिए धन्यवाद। शायद मैं उस अनुग्रह को कभी हासिल नहीं कर सकता। प्रिय पिता, मुझे आनंद और हर्ष के साथ सेवा करने के लिए सशक्त करें जो आपकी कृपा से मेरे पापों और असफलता के बोझ से आती हैं। यीशु के नाम से मैं प्रार्थना करता हूँ। आमीन !

My Prayer...

Father in heaven, thank you for sending Jesus to fulfill the Law and to bless me with your grace. May I never take that grace for granted. Dear Father, empower me to serve you with joy and gladness that come from the burdens of my sinfulness and failure lifted by your grace. In Jesus' name I pray. Amen.

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

Today's Verse Illustrated


Inspirational illustration of मत्ती 11:27-28

टिप्पणियाँ