आज के वचन पर आत्मचिंतन...

और क्या कहना है, "परमेश्वर की स्तुति करने के अलावा" और यीशु को धन्यवाद करना!"

Thoughts on Today's Verse...

What else is there to say, other than "Praise God!" and "Thank you Jesus!"

मेरी प्रार्थना...

प्रिय पिता मुझसे अनंत प्रेम करने के लिए धन्यवाद'.मैं भी आपसे प्यार करता हूं,और आपकी उपस्थिति में आपके साथ अपने जीवन का सबसे बड़ा हिस्सा साझा करने की आशा करता हूं।यीशु के नाम से प्रार्थना करता हूँ।अमिन।

My Prayer...

Thank you for loving me with an everlasting love, dear Father. I love you, too, and look forward to sharing the biggest part of my life with you in your presence. In Jesus' name. Amen.

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

Today's Verse Illustrated


Inspirational illustration of यूहन्ना 3:16

टिप्पणियाँ