आज के वचन पर आत्मचिंतन...

कुछ लोग आशीषित होते हैं। कोई फर्क नहीं पड़ता यदि हम उनसे फ़ोन पे बाते करे, या एक प्रोत्साहित ईमेल पये, या लिखीत चिट्ठी मिले, या उन्हें आमने सामने देखे. किसी भी समय हम उन्हें याद करते है,हम उनके लिए परमेश्वर को धन्यवाद करते है.इसलिए पौलुस का उदाहरण का अनुसरण करे और उनको जानने दो की वे हमें परमेश्वर को धन्यवाद पेशकश करने के लिए कारणे देते है.।

Thoughts on Today's Verse...

Certain people are blessings. It doesn't matter if we visit with them on the phone, get an encouraging email, receive a hand-written letter, or see them face to face. Any time we remember them, we thank God for them. So let's follow Paul's example and let them know they give us reasons to offer thanks to God.

मेरी प्रार्थना...

प्रेमी प्रभु, धन्यवाद उनके लिए ...( कई लोगों के नाम यहाँ लिखे जो आपके जीवन को आशीष करता है). उन्होंने कई मायनों में मेरे जीवन को आशीष किया है, इसीलिए उनको आपका अनुग्रह, समर्थ और आत्मा से आशीष करने के लिए में अभी मांगता हूँ.प्रार्थना यीशु के नाम से में मांगता हूँ. अमिन.

My Prayer...

Loving LORD, thank you for... (place the name of several people who bless your life in here). They have blessed my life in so many ways, so I'm asking you now to bless their lives with your grace, power, and Spirit. In Jesus' name I pray. Amen.

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। [email protected] पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

Today's Verse Illustrated


Inspirational illustration of फिलिप्पियों १:३

टिप्पणियाँ