आज के वचन पर आत्मचिंतन...

परमेश्वर ने हमे रचा, जब हम अपनी माँ के कोख में थे, उसने हमे जीवन में एक उद्धेश के साथ बड़े प्यारभरी देखभाल से रचा और एक वादे के साथ की वो रस्ते के हर कदम पर साथ होगा। परमेश्वर को हमारा ध्यान है, किसी उत्तम चरवाहे से भी अधिक जो अपने भेड़ का बड़े अच्छे से रखता है । तो आओ उनके जैसे जिये जो अपने अगुवों, शृष्टिकर्ता और राजा को जानते है! उसके चरित्र को दर्शाए, उसकी दया पहुचाये और माफ़ी दे। आओ दिखाए की हम उसके है।

Thoughts on Today's Verse...

God made us. While we were in our mother's womb, the LORD made us with loving care (Psalm 139:13-16). He made us with a purpose for our lives and a promise to be with us every step of the way. God cares for us much better than even the very best shepherd cares for his sheep. So let's live as those who know our Leader, Creator, and King! Let's display his character, share his grace, extend his mercy, and offer his forgiveness. Let's show that we are his people!

मेरी प्रार्थना...

प्रिय प्रभु ,मैं सच में धन्यवादी हु , की परमेश्वर है। मेरे चरवाहे, मेरे पिता और मेरे नायक बनने के लिए धन्यवाद्। कृपया मेरी सहायता करे की मैं ईमानदारी से आपके चरित्र को दिखा सकू और जो मेरे आस पास है उनपर दया दिखा सकू। यीशु के नाम से। अमिन।

My Prayer...

I am truly thankful, dear LORD, that you are God. Thank you for being my Shepherd, my Father, and my Hero. Empower me as I seek to display your character and kindness to those around me. In Jesus' name I pray. Amen.

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। [email protected] पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

Today's Verse Illustrated


Inspirational illustration of भजन संहिता १००:३

टिप्पणियाँ

Important Announcement! Soon posting comments below will be done using Disqus (not facebook). — Learn More About This Change