आज के वचन पर आत्मचिंतन...

हमारे जीवन में नियंत्रण में कौन है, उसे हम जिस प्रकार जीते है उसके द्वारा दिखाते हैं ! हम इस दुनिया में पिता के साथ हमारे रिश्ते को उसकी चरित्र के साथ जीने के द्वारा दिखाते हैं। तो चलिए आत्मा के नियंत्रण में रहते हैं - आत्मा के प्रेरित वचन का पालन करना और आत्मा की अगुवाई का पालन करना - इसलिए हम जो कहते हैं और करते हैं उसमें यीशु को दिखा और साझा कर सकते हैं!

Thoughts on Today's Verse...

We show who is in control in our lives by the way we live! We show our relationship to the Father by living with his character in our world. So let's live under the control of the Spirit — obeying the Spirit's inspired Word and following the Spirit's lead — so we can show and share Jesus in what we say and do!

मेरी प्रार्थना...

प्रिय पिता, कृपया मुझे यीशु की सुंदरता, अनुग्रह और पवित्रता देखने के में मदद करें। मेरा जीवन आज और हर दिन पवित्र आत्मा के नियंत्रण, अनुग्रह और फल को प्रदर्शित करने दीजिये । यीशु के नाम में मैं प्रार्थना करता हूँ। अमिन ।

My Prayer...

Dear Father, please help the beauty, grace, and holiness of Jesus to be seen in me. May my life show the control, grace, and fruit of the Holy Spirit in all I do today and every day. In Jesus' name I pray. Amen.

आज का वचन का आत्मचिंतन और प्रार्थना फिल वैर द्वारा लिखित है। phil@verseoftheday.com पर आप अपने प्रशन और टिपानिया ईमेल द्वारा भेज सकते है।

Today's Verse Illustrated


Inspirational illustration of रोमियो 8:9

टिप्पणियाँ